Translate

EPF की जानकारी और Employee, Pension Fund in Hindi

एक टिप्पणी भेजें

यदि आप एक निजी और सरकारी कर्मचारी हैं। फिर यह पोस्ट आपके लिए है। क्योंकि आज मैं EPF ​​अकाउंट की बात कर रहा हूं।

भविष्य निधि योजना - Provident fund scheme in Hindi

pf kya hota hai
pf jankari

नमस्कार दोस्तों मेरी इस पोस्ट में आपका का स्वागत है। इस पोस्ट में, आज मैं आपको EPF ACCOUNT के बारे में BASIC जानकारी दे रहा हूँ।

जिसमें आपको पता चल जायेगा। EPF खाता क्या है? PF ACCOUNT में कर्मचारी फंड (employee fund) और पेंशन फंड (pension fund) का हिस्सा क्या है? इन सवालों की पूरी जानकारी आपको मेरे इस लेख में मिलेगी।

यदि आपकी PF राशि 55 हजार से ऊपर है। फिर अपने पैनकार्ड को एपीएफओ की वेबसाइट पर अपलोड करना लाजिमी हो जाता है।

चलो अब शुरू करते हैं। सबसे पहले हम जानते हैं।

EPF खाता क्या है?

ईपीएफ खाता (epf account) एक पैसा बचाने वाला खाता है। जिसे भारत में काम करने वाले व्यक्ति के लिए कर्मचारी भविष्य निधि योजना (Employees Provident Fund Scheme) के रूप में जाना जाता है। Pf खाते में भुगतान 2 भागों में जमा किया जाता है। जिसे कर्मचारी फंड (employee fund) और पेंशन शेयर (pension share) के रूप में जाना जाता है।

कर्मचारी फंड (employee fund) आपके मासिक वेतन से काटा जाता है और पेंशन फंड (pension fund) आपको कंपनी देती है। जिसमें आप काम कर रहे हैं, आइए अब हम कर्मचारी और पेंशन शेयर के बारे में अधिक जानते हैं।

PF कर्मचारी शेयर क्या है?

EPF कर्मचारी शेयर (EPF) आपके वेतन से कटौती की गई राशि कहां जाता है। PF कर्मचारी फंड (EPF) निजी या सरकारी नौकरी (private and government job) करने वाले व्यक्ति के वेतन का 12% है। जो आपके epf खाते में हर महीने जमा किया जाता है।

PF पेंशन शेयर क्या होता है?

EPF Pension Share (EPS) कंपनी द्वारा दिया जाता है। पेंशन शेयर की राशि वेतन के 12% के बराबर है। कंपनी पीएफ पेंशन शेयर (EPS) में 8.33% की राशि जोड़ती है और पीएफ कर्मचारी फंड (EPF) में हर महीने 3.67% की राशि जोड़ी जाती है।

यानी, जितना पैसा आपके वेतन से pf Employer Fund के रूप में काटा जाता है। इतनी ही राशि कंपनी आपके PF खाते में PF पेंशन शेयर और pf Employer Fund के रूप में जमा करती है।

Pf कितना कटता है?

सरकारी और निजी नौकरी करने वाले प्रत्येक व्यक्ति के Salary से Pf की 12% कटौती की जाती है और 12% की राशि को कंपनी और सरकार द्वारा उस व्यक्ति के खाते में जोड़ दिया जाता है। जिसके अनुसार, वेतन का 24% EPF खाते में हर महीने जोड़ा जाता है।

Related Posts

एक टिप्पणी भेजें